हाथरस की मनीषा को इंसाफ के लिए देश भर में आंदोलन। मनीषा...

हाथरस की मनीषा को इंसाफ के लिए देश भर में आंदोलन। मनीषा का अंतिम संस्कार छोड़ गया 5 सवाल। जानिए किया है वो 5 सवाल

275
0
SHARE

01 October 2020 (भारत भूमि न्यूज़ 24)
यूपी के हाथरस के छोटे से गाओं में 19 वर्षीया देश की बेटी मनीषा के साथ गैंग रैप की घटना सामने आई है। मनीषा के घरवालों का आरोप है कि खेत में काम कर रही मनीषा के साथ गैंग रैप के साथ उसके साथ हैवानियत करते हुवे रीड कि हड्ड़ी तोड़ दी गई तथा जुबान न खोल सके उनकी जीब तक कांट दी गई।


14 सितम्बर कि ये घटना है 5 दिन के बाद ऍफ़ आई आर लिखी जताई है वो भी केवल छेड़खानी की। 14 सितम्बर को छोटे से अस्पताल में भर्ती करा कर इलाज कराया जाता है। हालात बिगड़ने पर बड़े शहर के सरकारी अस्पताल में इलाज हुवा। वंहा पीड़िता की मेडिकल जाँच हुई , इलाज चला। यंहा पर मनीषा की गंभीर हालत को देखते हुवे उसे दिल्ली के सबदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जंहा उसकी 29 सितम्बर को दर्दनाक मौत हो गई।
29 तारीख को मनीषा के शव को प्रशासन ने उनके परिवार वालों को देने के बजाये। सीधे उसके गाओ ले गए तथा देर रात को प्रसाशन की मौजूदगी में पास ही एक खेत में उसका देर रात को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

प्रधान मंत्री नरेंदर मोदी यूपी के मुख्यमंत्री योगी को जाँच के आदेश दिए है , वंही मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने सीट का गठन किया तथा सीबीआई जाँच करने पर विचार कर रहे है। पीड़िता के के परिवार को 25 लाख, एक नौकरी तथा घर देने का एलान किया है।


इस पुरे घटनाक्रम को देखे, समझे तो बहुतसारी बाते व सवाल निकलकर सामने आते है।
सवाल नंबर 1 – इतने संगीन आरोप के लिए एफआईआर साधारण छेड़छाड़ की क्यों दर्ज की गई। मतलब इस केस को आरम्भ से ही गंभीरता से कियो नहीं लिया गया।
सवाल नंबर 2 – पहले ही मनीषा को बड़े हॉस्पिटल में , या बड़े शहर में इलाज क्यों नहीं कराया गया। किया प्रशासन / सरकार ऐसे मामलों के लिए गंभीर नहीं है !
सवाल नंबर 3 – मनीषा के पार्थिव शरीर को उसके घर के आँगन में क्यों नहीं लाया गया और उसका चेहरा उसके परिवार को कियों नहीं दिखाया गया ? आखिर किया दबाव था परसासन पर ?
सवाल नंबर 4 – मनीषा के पार्थिव शरीर का संस्कार आधी रात को कियो किया गया ?
सवाल नंबर 5 – मनीषा के घर वालों की इजाजत के बगैर संसार कियों और परसासन अपने ब्यान में झूट कियो बोल रहा है की घरवालों की मौजूदगी में संस्कार हुवा है ?

आज पूरा देश हाथरस की निर्भया यानि मनीसा के लिए न्याय मांग रहा है। इसी कड़ी में भिवानी में सभी समाज के लोग अपने अपने तरीके से आंदोलन कर रहा है। आज भिवानी में डीसी को ज्ञापन सौंपा गया तथा रात को पुरे शहर में केंडल मार्च निकला गया।
भारत भूमि से बात करते हुवे वाल्मीकि समाज के नेता करनैल सिंह बागड़ी ने बताया की जब तक बहन मनीषा को इंसाफ नहीं मिल जाता आंदोलन बढ़ता ही जायेगा और हम पूरा वाल्मीकि, धानक , चमार , खटीक व अन्य सभी समाज मिल कर पुरे शहर में इंसाफ के लिए आंदोलन करेंगे जिसकी आवाज यूपी तक जाएगी। इस अवसर पर बहुत से नेतागण मौजूद थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY