वैश्य इंटरनेशनल स्कूल का शुभारंभ 01 अप्रैल से – अध्यक्ष, एडवोकेट शिवरतन...

वैश्य इंटरनेशनल स्कूल का शुभारंभ 01 अप्रैल से – अध्यक्ष, एडवोकेट शिवरतन गुप्ता

107094
0
SHARE

वैश्य इंटरनेशनल स्कूल का शुभारंभ 01 अप्रैल से

  • अत्याधुनक तकनीक से लेस होगा स्कूल
  • अब दिल्ली, गुरूग्राम, नोएडा जैसी शिक्षा भिवानी में
  • कई बड़े शहरों से तजुर्बेकार अध्यापक चलनीत जायेंगे
  • एक्स्ट्रा-ऑर्डिनरी बच्चों को दी जाएगी स्कॉलरशिप
  • अध्यक्ष, एडवोकेट शिवरतन गुप्ता व महासचिव पवनकुमार बुवानीवाला ने प्रेस      कॉन्फ्रेंस कर दी जानकारी

(भिवानी) 1 अप्रैल 2023, (ब्यूरो चीफ भारत-भूमि)

वैश्य महाविद्यालय ट्रस्ट, भिवानी के अध्यक्ष, प्रसिद्ध एडवोकेट शिवरतन गुप्ता ने पत्रकारों की प्रेस-कान्फ्रेस को संबोधित कर दी मत्वपूर्ण जानकारी. उन्होंने कहा कि भिवानी शहर में बच्चों को गुणात्मक शिक्षा देने के उद्देश्य से तैयार वैश्य इंटरनेशनल स्कूल का विधिवत शुभारंभ 01 अप्रैल 2023 से होगा, जिसके लिए ट्रस्ट के पदाधिकारियों द्वारा सभी प्रकार की तैयारियाँ कर ली गई हैं। शिक्षा निदेशालय के दिशा-निर्देशों के मुताबिक विद्यालय के सभी नॉर्मस पूरे कर लिए गए हैं। विद्यालय में गुणात्मक शिक्षा पर बल देने के लिए प्राथमिक तौर पर अपने क्षेत्र के उच्च गुणी शिक्षकों की भर्ती की जा रही है। यदि जरूरत पड़ी तो दिल्ली, नोएडा, गुरूग्राम सहित अन्य स्थानों से भी अच्छे शिक्षकों की भर्ती की जा सकती है, लेकिन प्राथमिकता पहले अपने क्षेत्र के शिक्षकों को दी जाएगी। उन्होंने कहा कि भिवानी जैसे शहर में और अधिक गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने हेतु इस प्रकार के विद्यालय की सख्त जरूरत थी। अभिभावकों की माँग के अनुसार वैश्य इंटरनेशनल स्कूल में गुणात्मक शिक्षा के साथ-साथ आधुनिक तकनीकी शिक्षा भी विद्यार्थियों को प्रदान की जाएगी, ताकि विद्यार्थी अच्छी शिक्षा के बल पर देश-विदेश में नाम रोशन कर सकें। उन्होंने कहा कि यह विद्यालय उन अभिभावकों व बच्चों के लिए वरदान साबित होगा, जो गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ग्रहण करने हेतु अपने बच्चों को दिल्ली, गुरूग्राम सहित अन्य स्थानों पर भेजते थे, परंतु वैश्य इंटरनेशनल स्कूल के शुरू होने पर विद्यार्थियों को इन स्थानों पर जाने की जरूरत महसूस ही नहीं होगी क्योंकि इस विद्यालय में उच्च गुणों कीे शिक्षा अच्छे शिक्षकों के माध्यम से प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि विद्यालय में हर कक्षा-कक्ष, बस, लाइब्रेरी और लैब वातानुकूलित रहेंगे। श्री गुप्ता ने कहा कि 01 अप्रैल से सी.बी.एस.ई पैटर्न पर प्री-नर्सरी से आठवीं तक विद्यार्थियों की शिक्षा की व्यवस्था रहेगी और जल्द ही चरणबद्ध तरीके से कक्षा 9वीं से 12वीं की कक्षाएँ भी लगाई जाएंगी। फीस के विषय में वार्ता को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार की सुविधाएँ विद्यार्थियों को दी जाएगी उसी मापदण्ड के मुताबिक विद्यार्थियों की फीस निर्धारित की जाएगी तथा एक्स्ट्रा-ऑर्डिनरी बच्चों को स्कॉलरशिप भी प्रदान की जाएंगी।
इस अवसर पर महासचिव पवनकुमार बुवानीवाला ने कहा कि इस विद्यालय के लिए भिवानी शहर के लोगों को काफी समय से इंतजार था, अब इंतजार की घडि़याँ खत्म हो गई हैं क्योंकि अब यह विद्यालय वैश्य महाविद्यालय ट्रस्ट के मार्गदर्शन में स्वतंत्र रूप से 01 अप्रैल, 2023 से शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह शिक्षण संस्थान सी.बी.एस.ई. बोर्ड की संबद्धता के अधीन स्वतंत्र रूप से चलेगा। विद्यालय में हर प्रकार की आधुनिक सुविधाएँ रहेंगी। साईंस, कम्प्यूटर लैब व लाईब्रेरी सहित अनेक उच्च क्वालिटी की सुविधाएँ विद्यार्थियों के लिए रहेंगी जिस हेतु विद्यालय में उच्च क्वालिटी के शिक्षक नियुक्त किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि विद्यालय में टच स्क्रीन बोर्ड, ई-लाइब्रेरी की सुविधा भी विद्यार्थियों को प्रदान की जाएगी। बच्चा घर बैठकर भी ई-लाइब्रेरी कीे मदद से पढ़ सकेगा। शिक्षा के नए सॉफ्टवेयर लाए जाएगें और स्मार्ट कक्षाएँ रहेंगी। उन्होंने कहा कि सी.बी.एस.ई पैटर्न से पढ़ा बच्चा कहीं पर भी स्वयं को स्थापित करने में सक्षम होता है। वहीं उन्होंने कहा कि गुणात्मक शिक्षा के साथ-साथ हिन्दी, अंग्रेजी व अन्य भाषाओं के साथ-साथ फ्रैंच, चाइनिज, जर्मन आदि भाषाओं का भी विद्यार्थियों को समय-समय पर ज्ञान करवाया जाएगा, जिसके लिए उच्च क्वालिटी के भाषायुक्त शिक्षक रखे जाएगे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY